best homeopathic medicine for acidity and gas/Pet me Gas-Acidity ki Homeopathic Dawa in Hindi

best homeopathic medicine for acidity and gas

0
125

पेट में गैस-एसिडिटी की होम्योपैथिक दवा

दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं पेट में गैस-एसिडिटी की होम्योपैथिक दवा के बारे में। आज के समय में हमारे खाने – पीने का तरीका बिगड़ चुका है। और हम टाइम से वे-टाइम खाना खाते है जिससे पेट में गैस, एसिडिटी आदि की समस्या बनी रहती है। पेट में गैस, एसिडिटी आदि की समस्या न हो इसलिए हम आपके लिए बेस्ट होम्योपैथिक फार्मूला लेकर आये हैं जिसे लेने से बहुत ही जल्द आराम मिलता है और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है।

पेट में गैस-एसिडिटी के लिए होम्योपैथिक दवा का बेहतरीन कॉम्बिनेशन फॉर्मूला

1. Pulsatilla 200 :- आइसक्रीम खा लेने या पार्टी में कुछ ठंडा पी लेने पर, ज्यादा तला हुआ खाना खा लेने पर, डकारे अधिक आने पर, गैस ज्यादा बनने पर, अपच ज्यादा रहने पर आदि लक्षणों में यह दवा बहुत अच्छा काम करती है।

2.Antim Crud 200 :- जीभ का सफेद पड़ जाना, गैस की समस्या ज्यादा रहना, एसिडिटी होना, पेट ऊपर की तरफ फूलना, खाना न पचना, भूख न लगना, बच्चो को भूख़ न लगना आदि लक्षणों में यह दवा देने पर लाभ मिलता है।

3.Carbo. Veg. 200:- गैस ऊपर की तरफ बने, पेट का तन जाना या फूल जाना, गैस के कारण कमजोरी महसूस होना आदि लक्षणों में यह दवा लाभकारी है।

4. Robinia 200:- बार-बार डकार आना, गैस ऊपर की तरफ जाना, खाने की नली में जलन महसूस होना, गैस के साथ मुँह में खट्टापन आना आदि लक्षणों में यह दवा बहुत ही अच्छा कार्य करती है।

होम्योपैथिक चिकित्सा की खुराक

इन चारों दवाओं को होमियोपैथी स्टोर से खरीद लें और 30ml की एक खाली शीशी खरीद लें। अब इस खाली शीशी में चारों दवाओं को समान मात्रा में मिला लें। इसके बाद इस शीशी को 8 से 10 बार हिला लें जिससे चारो दवा आपस में अच्छी तरह मिल जाएं। अब यह आपका कॉम्बिनेशन फार्मूला बनकर तैयार है। इस फार्मूले से 2 बूंद सुबह खाली पेट और 2 बूंद दोपहर और 2 बूंद रात को सोते समय लेना है। यह दवा सुबह को खाना खाने के आधा घंटे बाद भी ले सकते है। इस दवा को लेने से आधा घंटा पहले और आधा घंटा बाद खाना न खाएं।

नोट – यदि पेट में गैस बनने की समस्या अधिक पुरानी हो तो इस formule के साथ नक्स वोमिका 200 को 30 ml में खरीदकर उपरोक्त formule के साथ से 2-2 बूंद 5 मिनट के अंतराल पर लें।

नोट:- दवाएं डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही लें और लक्षणों के आधार पर ही लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here